Mon. Nov 18th, 2019

विद्यार्थी अपनी रूचि व योग्यता के अनुसार ही अपने कार्य करें, विनीत तोमर

1 min read

सोनी चौहान
एसएमजेएन पीजी काॅलेज में उत्तराखण्ड राज्य स्थापना दिवस के पूर्व दिवस पर आज शुक्रवार को काॅलेज प्रबन्ध् समिति के अध्यक्ष महन्त लखन गिरि महाराज की अध्यक्षता में मेधावी छात्र छात्रा कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि विनीत तोमर आई ए एस, काॅलेज प्रबन्ध् समिति के अध्यक्ष श्रीमहन्त लखन गिरि महाराज व काॅलेज के प्राचार्य डाॅ सुनील कुमार बत्रा ने  सरस्वती वन्दना व द्वीप प्रज्जवलित कर  के किया गया। प्राचार्य डाॅ सुनील कुमार बत्रा व मुख्य छात्र कल्याण अधिष्ठाता डाॅ संजय माहेश्वरी आदि द्वारा सभी अतिथियों का माल्यार्पण कर स्वागत किया गया।

  
इस अवसर पर काॅलेज प्रबन्ध् समिति के अध्यक्ष श्रीमहन्त लखन गिरि महाराज व मुख्य अतिथि विनीत तोमर ने स्वीप एवं मतदाता सत्यापन में उल्लेखनीय कार्य करने पर मेधावी छात्र-छात्राओं को पुरस्कार वितरित किया गया। जिसमें कुणाल धवन, हेमन्त कुमार, अनन्या भटनागर, पूर्णिमा, प्रीति, कामना त्यागी, सिमरन अरोड़ा, मुकुल कुमार, काजल कश्यप, शीतल, निक्की शर्मा, मनिषा कण्डारी, गायत्री शर्मा, मोनिका शाह, शोएब, परीचा त्यागी, काजल, अम्बिका, निधि आदि को पुरस्कृत किया गया।


विनीत तोमर ने कहा कि प्रत्येक विद्यार्थी अपनी रूचि व योग्यता के अनुसार ही अपने कार्य व रोजगार का चुनाव करे। इससे उनको अवश्य ही सफलता मिलेगी। विनीत तोमर ने काॅलेज के छात्र छात्राओं द्वारा मतदाता सत्यापन हेतु किये गये कार्य की मुक्त कंठ से प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि छात्र-छात्राओं के इस प्रयास से जनपद हरिद्वार का मतदान प्रतिशत बढ़ा है। जोकि अब बढ़ कर 66प्रतिशत हों गया है लेकिन अभी भी शत् प्रतिशत मतदान में 34 प्रतिशत की और अधिक आवश्यकता है तथा इन प्रयासों से इस लक्ष्य को भी प्राप्त किया जा सकता है। उन्होंने सभी छात्रा-छात्राओं से अधिक से अधिक मतदान करने का भी आह्वान किया।


प्राचार्य डाॅ सुनील कुमार बत्रा ने राज्य स्थापना दिवस की बधाई देते हुए कहा कि उत्तराखण्ड राज्य का गठन 09 नवम्बर, 2000 में उत्तर प्रदेश से अलग होकर हुआ था। तब इसका नाम उत्तरांचल था, परन्तु जनवरी 2007 में इसका नाम बदलकर उत्तराखण्ड कर दिया गया। उन्होंन कहा कि उत्तराखण्ड देवभूमि है, यहाँ चार प्रमुख तीर्थस्थल स्थित हैं जिसमें प्रतिवर्ष हजारों-लाखों की संख्या में तीर्थयात्री आते हैं, इसी कारण पर्यटन यहाँ का मुख्य रोजगार है।


कार्यक्रम का सफल संचालन कर रहे डाॅ संजय माहेश्वरी ने राज्य स्थापना दिवस की शुभकामनायें देते हुए कहा कि उत्तराखण्ड राज्य गंगा-यमुना का उदगम स्थल है जिसके कारण उत्तर-पूर्वी भारत में समृद्धि आ रही है। इस अवसर पर काॅलेज के छात्र छात्राओं द्वारा विभिन्न प्रस्तुति दी। अनन्या भटनागर ने ‘हम बोझ नहीं’, मुकुल पुण्डीर ने ‘तलवारों पर तथा रंग सरबतों का’, कुणाल धवन ने होठो से छू लो तुम, देविका पंचोली ने शहीदों को समर्पित गीत प्रस्तुत किया।

   
कार्यक्रम में डाॅ तेजवीर सिंह तोमर, विनय थपलियाल, वैभव बत्रा, डाॅ पदमावती तनेजा, डाॅ लता शर्मा, पुनीता शर्मा, डाॅ निविन्ध्या शर्मा, रिंकल गोयल, डाॅ रीतू चौधरी, विनित सक्सेना, अंकित अग्रवाल, निमिशा शर्मा, मोहन चन्द्र पाण्डेय, संजीत कुमार, अशेाक चौहान सहित काॅलेज के अनेक छात्र-छात्रा उपस्थित थे।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!