Sat. Jan 25th, 2020

श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय में साल 2020 से पीएचडी को हरी झंडी

1 min read

वि​कास गर्ग
उत्तराखंड के श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय में साल 2020 से पीएचडी की उपाधि के लिए शोध कार्य प्रारंभ कराने को लेकर कवायद शुरू हो गई है। कुलपति डॉ पीतांबर प्रसाद ध्यानी ने विश्वविद्यालय में शोध कार्य को अपनी पहली प्राथमिकताओं में शुमार किया है। इसके अलावा विश्वविद्यालय को पूरी ईमानदारी और पारदर्शिता के साथ सर्वश्रेष्ठ बनाने का संकल्प किया है।
श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय बादशाहीथौल,टिहरी के कुलपति डॉ पीपी ध्यानी ने साल 2020 के शुभारंभ अवसर पर विश्वविद्यालय के अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ एक बैठक आयोजित कर वार्षिक गतिविधियों को लेकर चर्चा की तथा आगामी रणनीतियां बनाई गई। इस दौरान कुलपति डॉ पीपी ध्यानी से विश्वविद्यालय को ऊंचाईयों पर ले जाने के लिए सभी अधिकारियों और कर्मचारियों के सुझावों को सुना तथा अपने विचार व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि छात्रों की समस्याओं का प्राथमिकता से निदान होना चाहिए। विद्यार्थियों को किसी प्रकार की कोई परेशानी ना हो। लंबित परीक्षा परिणामों को जल्द घोषित किया जाए। शिक्षा की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया जाए। सेमेस्टर और बीएड परीक्षाओं का सफल संपादन किया जाए। पाठयक्रमों में संसोधन किया जाए।नकल विहीन परीक्षाओं का संचालन करना होगा। वही अपनी प्राथमिकताओं को बताते हुए कुलपति डॉ पीपी ध्यानी ने बताया कि इस साल से शोध कार्य प्रारंभ कराना है। उन्होंने सभी कर्मचारियों से लक्ष्य निर्धारित करते हुए कड़ी मेहनत करने और स्वार्थ रहित कार्य करने की अपील की।

बैठक में उप कुलसचिव दिनेश चंद्रा, वित्त अधिकारी स्मृति खंडूरी, परीक्षा नियत्रंक आर एस चौहान, सहायक परीक्षा नियत्रंक बी एल आर्य, डॉ हेमन्त बिष्ट, प्रो निरी सचिव कुलदीप सिंह नेगी, एस डी नौटिलाय, जसवन्त बिष्ट, वाई एस भण्डारी, अमित सजवाण, पवन रतूड़ी, आजाद प्रसाद आदि उपस्थित रहें।

 

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!