Mon. Oct 21st, 2019

जेल से फरार कैदी परवेज को श्यामपुर पुलिस ने गिरफ्तार किया

1 min read

नवीन चौहान
जेल परिसर के बाहर से फरार कैदी परवेज को श्यामपुर पुलिस ने मुस्तैदी दिखाते हुए गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी फरार कैदी परवेज रसियाबड़ के जंगलों में छिपा हुआ है। पुलिस टीम ने सुबह करीब साढ़े नौ बजे आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।
हरिद्वार पुलिस महकमे की 5 सितंबर 2019 को उस वक्त बड़ी किरकिरी हुई जब हत्या के आरोप में रोशनाबाद जेल का एक कैदी परवेज पेशी से आने के बाद जेल के बाहर से जंगल में फरार हो गया। एसएसपी सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस ने खुद मौके पर पहुंचकर जंगलों की कांबिंग कराई। लेकिन फरार कैदी का कोई सुराग नही मिला। एसएसपी ने एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय के नेतृत्व में पुलिस टीम गठित की। एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय ने एसओजी प्रभारी राजीव चौहान व श्यामपुर थाना प्रभारी दीपक कठैत व सिडकुल थाना प्रभारी प्रशांत बहुगुणा को निर्देशन दिए। श्यामपुर थाना प्रभारी दीपक कठैत ने मुखबिर तंत्र को सक्रिय किया। पुलिस टीम को सफलता मंगलवार की सुबह साढ़े नौ बजे मिली। आरोपी परवेज को रसियाबड़ के जंगलों से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस टीम में श्यामपुर थाना प्रभारी दीपक कठैत, एसआई लक्ष्मण जोशी, कर्मवीर, मनीष, एसओजी प्रभारी राजीव चौहान, सिडकुल थाना प्रभारी प्रशांत बहुगुणा, कांस्टेबल मनमोहन, विमल, अशोक व उमेद शामिल रहे। आरोपी परवेज को गिरफ्तार कर श्यामपुर थाना प्रभारी दीपक कठैत ने पुलिस बल का मान बढ़ाया है। आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस बल ने दिन रात एक कर दिया था। इसी के साथ दीपक कठैत ने क्षेत्र की जनता के विश्वास को भी जीता है। आरोपी परवेज के कारण क्षेत्रवासियों में काफी रोष व्याप्त था। फिलहाल पुलिस के लिए राहत की बात है।

एकलव्य हत्याकांड का आरोपी                                                                                                                                             

आरोपी परवेज ने 27 जून 2019 को एकलव्य नाम के युवक की हत्या कर दी थी। इस हत्याकांड से क्षेत्र में काफी बबाल हुआ। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी परवेज को गिरफ्तार किया। कोर्ट ने आरोपी परवेज को रोशनाबाद जेल में भेज दिया। इसी मुकदमे की पैशी के लिए परवेज को 5 सितंबर को कोर्ट ले जाया गया था। जिसके बाद आरोपी परवेज फरार हो गया।

श्यामपुर एसओ दीपक कठैत की काबलियत
श्यामपुर थाना प्रभारी दीपक कठैत को अपने मुजरिम को दूसरी बार गिरफ्तार करने में पूरी ताकत झोंक दी। उन्होंने क्षेत्र में मुखबिर तंत्र को अलर्ट किया तथा एसओजी की टीम के साथ तालमेल बनाकर रखा। आरोपी परवेज को दशहरा पर अपने घर जाने की सूचना पर वह पूरी तरह से नजर बनाए हुए थे।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!