Mon. Nov 18th, 2019

एसएसपी नैनीताल सुनील मीणा ने किया सीमा मर्डर केस का खुलासा

1 min read

नवीन चौहान
बेटे की बदचलन पत्नी की हत्या करने वाले आरोपी ससुर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी ससुर ने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया तथा मृतका के कपड़ों से शिनाख्त कराई। पुलिस ने एक पेंचीदा केस का पर्दाफाश कर दिया।
एसएसपी नैनीताल सुनील मीणा ने सीमा मर्डर केस का खुलासा किया। एसएसपी ने बताया कि आरोपी मदन लाल ने अपनी बहू सीमा की हत्या कर शव को ठिकाने लगा दिया था। बताया कि 04-11-19 को गुरुचरन सिंह पुत्र बहादुर सिंह निवासी ग्राम हरिपुर जमन सिंह देवलचौड हल्द्वानी जिला नैनीताल ने कोतवाली हल्द्वानी मे एक तहरीर दी। तहरीर में बताया कि मदन लाल पुत्र पोपीराम निवासी ग्राम जोगीठेर थाना अलीगंज बरेली उप्र अपनी बहू सीमा तथा पोता-पोती के साथ किराये पर रहने आया था। दिनांक 18-09-19 की शाम को आसपास के लोगों को अपनी बहू सीमा के बिना बताये कही चले जाने की बात कहने लगा। अगले दिन सभी को बिना बताये पोता पोती को साथ लेकर कहीं चले गया था। दिनांक 27-09-19 को हमारे गाँव के जंगल में एक महिला का कंकाल मिला था। सम्भवतः मदन लाल द्वारा अपनी बहू सीमा की हत्या कर शव को जंगल मे फेंक दिया है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर एसएसआई कश्मीर सिंह को विवेवना दे दी। इस केस का खुलासा करने के लिए अमित श्रीवास्तव अपर पुलिस अधीक्षक हल्द्वानी व दिनेश चन्द्र ढौडियाल क्षेत्राधिकारी हल्द्वानी के पर्यवेक्षण में वरिष्ठ पुलिस उप निरीक्षक कश्मीर सिंह व एसओजी प्रभारी नैनीताल के नेतृत्व में टीम गठित की गई। पुलिस टीम ने सुरागरसी पतारसी कर अभियोग मे नामजद अभियुक्त मदन लाल उपरोक्त को अमर उजाला प्रेस के पास रामपुर रोड हल्द्वानी जिला नैनीताल से दिनांक 04-11-19 की शाम 16.20 बजे गिरफ्तार किया।


सीमा की हत्या के सम्बन्ध में विस्तृत पूछताछ करने पर अभियुक्त ने अपने जुर्म इकबाल करते हुए बताया कि मेरी बहू सीमा की शादी मेरे बेटे दिनेश पाल से करीब साढे तीन वर्ष पूर्व हुई थी। मेरा बेटा मानसिक रुप से अस्वस्थ है। जिस कारण मेरी बहू सीमा के हमारे गाँव के लोगों के साथ अवैध सम्बन्ध हो गये थे। जिस कारण मेरी काफी बदनामी हो गयी थी। मेरी पत्नी का देहान्त 01 वर्ष पूर्व हो गया था। मैने सोचा कि मेरी पत्नी खत्म हो गयी है। तथा मेरा बेटा भी मानसिक रुप से अस्वस्थ है। इसको मैं अपने साथ रखूँगा तो यह सुधर जायेंगी। इसी वजह से मैं अपनी बहू सीमा को लेकर अपने सबसे छोटे बेटे धर्मेन्द्र उम्र 7 वर्ष व उसके बेटी निशा 01 वर्ष के साथ हल्द्वानी दिनांक 10-09-19 को आया था। जहाँ पर मैने गुरुचरन सिंह सरदार के यहाँ हरिपुर जमन सिंह देवलचौड में 1500/- रु महीना किराया पर कमरा लिया। मैं सुशीला तिवारी अस्पताल के पास सलीम ठेकेदार के यहाँ रेता ईंट का काम करने लगा। अगले दिन मेरी बहू सीमा भी काम पर मेरे साथ गयी। जहाँ पर वह फिर से लडकों से बात करने लगी। मैने घऱ आकर मना किया तो वह नही मानी,और गाली गलौच करने लगी। दिनांक 17-09-19 की रात को करीब 08-09 बजे करीब मैने सीमा को समझाया तो सीमा मेरे साथ गाली गलौच करने लगी और जान से मारने की धमकी देने लगी। मेरे छोटे बेटे को भी घऱ मे आने नही दे रही थी। उसके बाद करीब 10 बजे सीमा फिर मेरे साथ हाथापाई करने लगी,और धमकी देने लगी,मैने कहाँ तेरे कारण मेरी काफी बदनामी हो गयी है,सुधर जा तो उसने कहाँ कि मै तुझे तेरे बेटे दोनों को मार कर किसी के साथ भाग जाऊँगी और मेरा गला पकड लिया मैने भी उसका दोनो हाथों से गला पकड लिया,जो वही बेहोश हो गयी मैने सोचा मर गयी,इसके बाद मैने सीमा को कन्धे पर रखकर झाडियों मे फेंक दिया,और तस्सली के लिए उसके उपर चापड से भी कई वार सिर में किये,इसके बाद मै अगले दिन बच्चो को लेकर बरेली चला गया। तथा अभियुक्त की निशानदेही पर अभियुक्त द्वारा शव फेंकने के स्थान के पास से ही झाडियों मे से हत्या मे प्रयुक्त चापड बरामद किया गया है,मृतका की शिनाख्त शव से बरामद कपडो को देखकर मुकदमा वादी व अन्य लोगो द्वारा की गयी। अभियुक्त को आज दिनांक 05-11-19 को मा0न्या0 के समक्ष पेश किया जा रहा है ।
नाम पता अभियुक्त:

मदन लाल पुत्र पीपी राम निवासी जोगीढेर मंडेरा थाना अलीगंज बरेली यूपी उम्र 50 वर्ष

पुलिस टीम:-
वरिष्ठ उप निरीक्षक कश्मीर सिंह, उप निरीक्षक दिनेश पन्त एसओजी प्रभारी नैनीताल,उप निरीक्षक हरीश पुरी
कांस्टेबल कुन्दन कठायत, कांस्टेबल त्रिलोक सिंह, कांस्टेबल अनिल गिरी, वंशीधऱ जोशी, चालक दिनेश लाल।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!