Mon. Nov 18th, 2019

एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट बनबसा की टीम ने किया लुटेरी दुल्हन का पर्दाफाश

1 min read

नवीन चौहान
शादी के नाम पर ठगी करने की वारदात में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। दुल्हन दिखाने के बाद दुल्हे से रकम ऐठने का यह सबसे सरल तरीका है। ठगी का शिकार अक्सर वो लोग बनते है जिनकी पहली बीबी की मौत हो जाती है। वो बच्चों की परवरिश के लिए दूसरी शादी करते है। लुटेरी दुल्हनों का बाकायदा गैंग बन चुका है। यूपी के मेरठ और सहारनपुर में इनकी तादात बहुत ज्यादा है। ऐसी की लुटेरी दुल्हन के गैंग का पर्दाफाश एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट बनबसा की टीम ने किया है। टीम ने ट्रैप के जरिये गिरोह की सरगना सितारगंज ऊधमसिंह नगर निवासी मंजीत कौर समेत छह सदस्यों को गिरफ्तार करने का दावा किया है।
बताते चले कि एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट बनबसा को शादी कराकर ठगी करने वाले गिरोह की जानकारी मिली थी। इस गिरोह में शामिल युवतियों की शादी दूसरे राज्यों के युवकों से तय करायी जाती थी। गिरोह ऐसे परिवारों की तलाश करता था, जो समृद्ध हों और बहू लाने की तैयारी में हो। गिरोह शादियां कराने के बदले लड़के वालों से रुपये लेता थे और शादी के कुछ समय बाद गिरोह की सदस्य दुल्हनें मौका पाकर कीमती सामान, नगदी, जेवरात लेकर वापस गिरोह में आ जाती थी। इस गिरोह में कुछ युवतियों को ब्लैकमेल कर या मजबूरी का फायदा उठाकर भी शामिल किया गया था।
एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट बनबसा टीम ने मानवाधिकार कार्यकर्ता विनय शुक्ला की मदद से ठगी करने वाले गिरोह के सदस्यों को पकड़ने हेतु ट्रेप बनाया गया। जिसके अन्तर्गत गिरोह की सरगना मंजीत सक्रिय सदस्य रंजीत को फोन कर शादी के लिये युवतियों की जानकारी मांगी थी। योजना के अनुसार गिरोह के सदस्य लड़कियों को लेकर खटीमा आये जहां पर एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट बनबसा द्वारा गिरोह के सरगना मंजीत सहित छह सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!