Mon. Nov 18th, 2019

समाजसेवी डॉ विशाल गर्ग की पहल पर बॉक्सिंग सीखने वाले खिलाड़ियों को मिलेगी छात्रवृत्ति

1 min read

नवीन चौहान
समाजसेवी ​डॉ विशाल गर्ग ने बच्चों को मानसिक और शारीरिक तौर पर मजबूत बनाने के​ लिए एक अच्छी पहल की है। बॉक्सिंग सीखने वाले बच्चों को प्रतिमाह दो हजार देने की योजना बनाई है। बॉक्सिंग एसोसियशन के अध्यक्ष डॉ विशाल गर्ग खिलाड़ियों को खेल के प्रति प्रोत्साहित करने और उनका मनोबल बढ़ाने की दिशा में सदैव आगे बढ़चढ़ कार्य करते है। उन्होंने युवाओं की खेल प्रतिभा को निखारने के लिए कई अभिनव प्रयोग किए है। उनकी प्रेरणा से हरिद्वार के कई खिलाड़ी विभिन्न राज्यों में मेडल अर्जित कर रहे है। इसी क्रम में हरिद्वार के बहादराबाद स्थित वात्सल्य वाटिका में पहुंचकर हरिद्वार एसपी सिंह उपाध्यक्ष किरबी इंडस्ट्री, राजेश कुमार, डॉ. विशाल गर्ग एवं नवीन चौहान हरिद्वार बॉक्सिंग एसोसिएशन ने बच्चों को फल- फ्रूट वितरित करके खेलों से जुड़ने के लिए बच्चों को उत्साह बढ़ाया। वात्सल्य वाटिका के कुछ बच्चे फुटबॉल मुक्केबाजी में भी सीखने के लिए आगे आए।
एसपी सिंह ने इन तमाम बच्चों की आर्थिक रुप से मदद देकर उनके प्रशिक्षण की व्यवस्था की। हरिद्वार बॉक्सिंग एकेडमी में बॉक्सिंग कोच नवीन चौहान के अंतर्गत हुई और 3 महीने के प्रशिक्षण के बाद अभी हाल ही में नैनीताल में संपन्न हुई शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित राज्य स्तरीय मुक्केबाजी प्रतियोगिता में वात्सल्य वाटिका वाटिका के 6 बच्चों में से चार खिलाड़ियों ने पदक प्राप्त किए – रजत पदक – कार्तिक सैनी , पवन सिंह Bronze पदक – आकांक्षी व रघुनंदन रहे। बच्चों की इस उपलब्धि पर बात्सलय वाटिका में खुशी का माहौल है व प्रबंधक ने कहा कि अगले साल से हमारे और भी बच्चे मुक्केबाजी खेल में प्रतिभाग करेंगे इस मौके पर उपस्थित एसपी सिंह ने कहा कि यह बच्चे ही आगे जाकर उत्तराखंड के लिए पदक प्राप्त करेंगे और हमारा लक्ष्य बच्चों को खेल में भी आगे बढ़ाना है।बच्चे सभी के लिए एक रोल मॉडल बनेंगे और बॉक्सिंग को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाना है। उन्होंने कहा कि बच्चों में अनंत प्रतिभाएं छिपी होती हैं उन प्रतिभाओं को निखार कर राज्यस्तरीय व राष्ट्रीय स्तर पर पहुंचना ही हमारा कर्तव्य है इसके लिए हम प्रतिबद्ध है।
समाजसेवी डॉ विशाल गर्ग ने कहा कि खेलों के द्वारा ही बच्चों का मानसिक और शारीरिक विकास होता है और आजकल के परिवेश में लड़कों व लड़कियों को बॉक्सिंग सीखने के प्रति आकर्षित करना ही उनका लक्ष्य है। मानसिक रूप से मजबूत खिलाड़ी ही सामाजिक ताने बाने में परिपक्व होते है। तथा सामाजिक बुराइयों एवं कुरीतियों का डटकर मुकाबला करते है। बालिका व महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए भी डा. विशाल गर्ग ने बताया कि अगले साल से हरिद्वार बॉक्सिंग एसोसिएशन द्वारा दो बच्चों को हर महीने 2 हजार रुपए की छात्रवृत्ति प्रदान करने की योजना है। हमारा लक्ष्य है कि हरिद्वार में ज्यादा ज्यादा बालिका बॉक्सिंग खेल के प्रति उत्साह दिखाकर आगे आए।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!