Mon. Nov 18th, 2019

डीएवी स्कूल के बच्चों ने वैदिक ज्ञान को नजदीक से जाना और समझा

1 min read

नवीन चौहान
डीएवी सेंटेनरी पब्लिक स्कूल जगजीतपुर में आयोजित दो दिवसीय वैदिक चेतना सम्मेलन में स्कूल प्रधानाचार्य, शिक्षकों और बच्चों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सपनों का भारत बनाने का संकल्प किया। स्कूली बच्चों ने सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के माध्यम से अभिभावकों और उपस्थितजनों को स्वच्छ भारत मिशन, पर्यावरण संतुलन, जल संरक्षण और देशभक्ति का जज्बा पैदा करने का संदेश दिया। उत्तराखंड की संस्कृति को प्रचारित किया गया। वेद के विद्धानों ने बच्चों और अभिभावकों को भारतीय संस्कृति से जुड़े रहकर भौतिक और आध्यात्मिक शिक्षा का अध्ययन करने की अपील की। दो दिनों तक चलने वाले इस भव्य कार्यक्रम में बच्चों को वेदों के ज्ञान का महत्व पता चला तथा भारत में आर्य समाज के नियमों के द्वारा सत्य के मार्ग पर चलने की प्रेरणा मिली।

    
आर्य समाज की प्रमुख संस्था डीएवी प्रबन्धकर्तृ समिति, नई दिल्ली के प्रधान एवं विद्यालय के चेयरमैन पूनम सूरी के निर्देशों पर विगत कई वर्षो से हरिद्वार डीएवी सेंटेनरी पब्लिक स्कूल जगजीतपुर में वैदिक चेतना सम्मेलन का आयोजन करा रही है। पूनम सूरी जी का इस कार्यक्रम को कराने के पीछे का उददेश्य स्कूली बच्चों को भारतीय संस्कृति और संस्कारों से जोड़कर रखना है। तथा आर्य समाज के नियमों का पालन करते हुए बच्चों को सत्य के मार्ग पर डटे रहकर चुनौतियों का सामना करने साहस जज्बा पैदा करना है। इसी के चलते 4 और 5 नवंबर को हरिद्वार के जगजीतपुर स्थित डीएवी सेंटेनरी पब्लिक स्कूल के प्रधानाचार्य पीसी पुरोहित के कुशल नेतृत्व में वैदिक चेतना सम्मेलन का आयोजन हुआ।

स्कूल के मैनेजर जेके कपूर ने बच्चों को आशीर्वाद प्रदान किया। जबकि मुक्त वक्ता पूर्व कुलपति उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय रिटायर्ड प्रोफेसर महावीर अग्रवाल व सुरेंद्र शर्मा ने अपने—अपने अंदाज में ओजस्वी भाषण से बच्चों में एक नई प्रेरणादायक ऊर्जा का संचार किया। स्कूली बच्चों ने भी अपनी प्रतिभा के जौहर दिखलाये। नृत्य, कला, साहित्य,गीत संगीत, देशभक्ति और वैदिक ज्ञान की गंगा में अभिभावकों ने डुबकी लगाई। बच्चों की प्रस्तुतियों ने उपस्थितजनों का मन मोह लिया तथा दांतो तले अंगुली दबाने को विवश किया। प्रधानाचार्य पीसी पुरोहित के कुशल नेतृत्व में डीएवी स्कूल के निरंतर प्रगति के पथ पर अग्रसरित होने पर मैनेजर जेके कपूर सहित तमाम अतिथियों ने सराहना की। वही इस कार्यक्रम में दो दिनों चले वैदिक मंथन में बच्चों में अपने देश के प्रति प्रेम की एक अलख जलती दिखाई दी। इसी के साथ इस आयोजन की सार्थकता भी सफल साबित हुई। स्कूली बच्चों को अपने स्कूल, संस्कृति, देश और वैदिक ज्ञान को नजदीक से जानने और समझने का अवसर मिला।

 

 

स्कूल प्रांगण में जहां वेदों के स्वर गुंजायमान हुए। वही शिक्षा के साथ—साथ आध्यात्मिक ज्ञान की अनूभूति हुई। अभिभावकों ने इस कार्यक्रम की बहुत प्रशंसा की। प्रधानाचार्य पीसी पुरोहित ने कार्यक्रम में सहयोग देने और शांतिपूर्ण तरीके से आयोजन को सफल बनाने के लिए सभी का आभार व्यक्त किया।

   

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!