Tue. Aug 20th, 2019

छात्रवृत्ति घोटाले में संयुक्त निदेशक के घर नोटिस चस्पा

1 min read

सोनी चौहान
करोड़ों की छात्रवृत्ति घोटाले की जांच कर रही एसआईटी एक बार फिर से सक्रिय है। एसआईटी प्रमुख मंजूनाथ टीसी के नेतृत्व में पुलिस टीम लगातार घोटाले बाजोें का पीछा कर रही है। एसआईटी ने समाज कल्याण विभाग के संयुक्त निदेशक एंव तीन सहायक समाज कल्याण अधिकारियों को नोटिस जारी कर 28 जून को एसआईटी कार्यालय रोशनाबाद में पेश होने के लिए कहा हैं। संयुक्त निदेशक के घर पर मौजूद नहीं होने के चलते एसआईटी ने घर के मुख्य द्वार पर ही नोटिस चस्पा कर दिया है।
एसआईटी के रडार पर अब समाज कल्याण विभाग के संयुक्त निदेशक गीता राम नौटियाल आ गए हैं। वह लगातार एसआईटी के साथ आंख मिचौली का खेेल खेल रहे हैं। एसआईटी ने इस बार संयुक्त निदेशक के देहरादून के पॉश इलाके बसंत विहार में घर पहुंचकर नोटिस थमाना चाहा लेकिन वह घर पर नहीं मिलें। उसके घर पर न मिलने के चलते एसआईटी ने मुख्यद्वार पर नोटिस चस्पा करने की कार्रवाई कर दी।
समाज कल्याण विभाग के ईसी रोड़ एवं पुराने सचिवालय भवन में बन कार्यालयों पर भी नोटिस चस्पा कर दिया गया है। इसी तरह हाल ही में रिटायर हुए सहायक समाज कल्याण अधिकारी विनोद नैथानी के डोभालवाला देहरादून स्थित आवास पर पहुंचकर परिजन को नोटिस रिसीव करा दिया गया है। सहायक समाज कल्याण अधिकारी मुनेश त्यागी एवं सहायक समाज कल्याण अधिकारी सोमपाल के लक्सर और रूड़की स्थित घर पहुंचकर नोटिस थमा दिया गया है। इन सभी को 28 जून को पेश होना है। जबकि विनोद मैथानी के पर्वतीय क्षेत्र में होने के चलते एक जुलाई की तारीख दी गई है। एसआईटी के फिर सक्रिय होने से कई शिक्षण संस्थानों के मालिकांओं की धड़कने भी बढ़ गई हैं।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!