Sun. Dec 15th, 2019

अवैध संबंध के चलते बृजेश हत्याकांड को दिया गया अंजाम, आरोपी गिरफ्तार 

1 min read

नवीन चौहान
पत्नी ने अवैध संबंध बनाये तो आक्रोषित पति ने पत्नी की मदद से युवक को बुलाकर उसकी हत्या कर दी। हत्या करने के दौरान एक नाबालिग ने देख लिया तो उसे भी डराकर लाश ठिकाने लगाने में लगा दिया। आखिरकार पुलिस ने आरोपी पति पत्नी को गिरफ्तार कर लिया और बृजेश मर्डर केस का पर्दाफाश कर दिया। नाबालिग को बाल संरक्षण भेज दिया गया है। घटना बागेश्वर की है।
20 जुलाई 2019 को राजस्व क्षेत्र सात रतबे के तोक गुनाकोट में एक युवक बृजेश ऐठानी पुत्र जगत सिंह ऐठानी निवासी ग्राम ऐठान थाना कपकोट जिला बागेश्वर की लाश प्राप्त हुई थी। राजस्व पुलिस को प्रथमदृष्टया हत्या प्रतीत हुई। हत्या की आशंका के चलते मृतक बृजेश के भाई राहुल ऐठानी की तहरीर के आधार पर हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया। बागेश्वर की पटवारी पुलिस ने हत्या की विवेचना करने के दौरान पंकज को गिरफ्तार कर लिया। लेकिन मृतक के परिजन इस विवेचना से संतुष्ट नही हुए। परिजनों ने बृजेश हत्याकांड की जांच रेगुलेर पुलिस से कराने की मांग की। जिसके बाद जिलाधिकारी बागेश्वर ने राजस्व पुलिस से विवेचना रेगुलर पुलिस को स्थानांतरित कर दी। विवेचना रेगुलर पुलिस को मिली तो एसपी बागेश्वर लोकेश्वर सिंह ने बृजेश हत्याकांड का पर्दाफाश करने के लिए गहनता से सभी पहलूओं की जांच करने के निर्देश दिए। जिसके बाद आरोपी पंकज की पत्नी तनूजा बिष्ट को गिरफ्तार किया जा सका तथा नाबालिग को हिरासत में लिया गया।
बागेश्वर पुलिस अधीक्षक लोकेश्वर सिंह ने बृजेश हत्याकांड का पर्दाफाश करने के लिए तत्काल टेक्निकल टीम/पुलिस टीम का गठन किया। बागेश्वर सीओ महेश चंद्र जोशी के निर्देशन में पुलिस टीम गठित की गई। प्रभारी निरीक्षक कोतवाली तिलकराम वर्मा के नेतृत्व में पुलिस टीम ने घटना स्थल ग्राम रतबे जाकर गांव वालों से पूछताछ की गयी। पुलिस पूछताछ में कुछ अहम जानकारी हाथ लगी। पुलिस को पता चला कि बृजेश का किसी तनूजा बिष्ट नाम की महिला से अवैध संबंध थे। पुलिस ने तनूजा बिष्ट को रडार पर ले लिया। पंकज बिष्ट की कॉल डिटेल को खंगाला गया तो कड़िया मिलती चली गई। पुलिस विवेचना में साफ हुआ कि हत्याकांड के दौरान 20 जुलाई तनूजा बिष्ट ने ही बृजेश को बुलाया था। जिसके बाद उसके पति पंकज ने हत्या को अंजाम दिया। 20 जुलाई को अपने घर के आंगन में मृतक बृजेश ऐठानी की लोेहे के डंडे से मारकर हत्या कर दी। हत्या करने के दौरान एक नाबालिग बालक ने उसे देख लिया। उस नाबालिक बालक को डरा धमकाकर शव को अपनी आल्टो कार में रखकर अपने घर से कुछ दूर जंगल में फेंक दिया। बालक को धमकाया कि किसी को इस बारे में कुछ ना बताये। जिसके बाद पुलिस ने नाबालिक को साक्ष्य छुपाने के कारण धारा 201 भादवि में पुलिस संरक्षण में लिया। तनूजा बिष्ट और पंकज बिष्ट को आपराधिक षडयंत्र कर हत्या करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया।
हत्याकांड का पर्दाफाश करने वाली पुलिस टीम 
उप निरीक्षक मदन लाल, कोतवाली बागेश्वर, उप निरीक्षक पंकज जोशी, प्रभारी एसओजी, उप निरीक्षक सुरभि राणा, कोतवाली बागेश्वर। कांस्टेबल हेम चन्द्र मठपाल, सर्विलांस, चन्दन राम, सर्विलांस, विरेन्द्र गैड़ा, कोतवाली बागेश्वर।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!