Sat. Jan 25th, 2020

भाजपा के सबसे मजबूत स्तंभ मदन कौशिक, दो दशकों से जलवा कायम

1 min read

विकास गर्ग
हरिद्वार की राजनीति में भाजपा के सबसे मजबूत स्तंभ मदन कौशिक है। मिलेनियम ईयर 2000 से लेकर साल 2020 तक लगातार उनका जनाधार बढ़ता ही रहा है। हरिद्वार की जनता के घर—घर तक उनकी पहुंच है। वही उनके चुनावी प्रबंधन का लोहा भाजपा हाईकमान तक मानता है। बूथ मैनेजमेंट की उनकी रणनीति हमेशा कारगर साबित हुई है। यही कारण है कि मदन कौशिक हरिद्वार की जनता की आज भी पहली पसंद है। मदन कौशिक के विरोधी दल दो दशक के भीतर भीतर भी उनके चुनावी प्रबंधन का कोई तोड़ ढूंढ नही पाए है। इसका सबसे बड़ा कारण ये है कि मदन कौशिक जनता के बीच सीधी पकड़ रखते है। जनता के कार्यो को प्राथमिकता देते है। जनता की कसौटी पर खरा उतरते है।


रिद्वार के रूड़की के समीप गांव इमलीखेड़ा में मदन कौशिक का जन्म 11 जनवरी साल 1965 को हुआ था। क्रांतिकारी विचारों के युवा मदन ने बजरंग दल से अपने सियासी कैरियर का आगाज किया। पुस्तैनी काम दूध और मावे के कारोबार को बढ़ाने के लिए इमलीखेड़ा से हरिद्वार पहुंचे मदन कौशिक ने हरिद्वार में चार सालों तक बजरंग दल का झंडा उठाकर अपनी सियासत को हवा दी। बजरंग दल के जिला संयोजक पद से साल 2000 में भाजपा की सदस्यता ग्रहण की और जिला महामंत्री का दायित्व मिला। मदन कौशिक के प्रखर अंदाज और उनकी का​बलियत तथा नेतृत्व क्षमता को देखते हुए साल 2001 में भाजपा के जिलाध्यक्ष पद की अहम जिम्मेदारी मदन कौशिक को दी गई। इस जिम्मेदारी का मदन कौशिक ने पूरी तन्मयता से निर्वहन किया। इसी के चलते भाजपा हाईकमान ने पहली बार एक नये युवा चेहरे मदन कौशिक को साल 2002 में विधायक का चुनाव लड़ने के लिए मैदान में उतार दिया। इस चुनाव में मदन कौशिक ने भाजपा के तमाम पुराने दिग्गजों को साधते हुए संतों के आशीर्वाद से करीब 2800 वोट से जीत दर्ज करके पहली बार विधानसभा पहुंचे। मदन कौशिक ने विधानसभा में हरिद्वार के तमाम समस्याओं को प्रखरता से उठाया और उनका निदान कराया। भाजपा हाईकमान ने साल 2007 में एक ​बार​ फिर मदन कौशिक को टिकट देकर मैदान में उतारा। ये चुनाव मदन कौशिक के कैरियर का आगाज लेकर आया। इस चुनाव में उन्होंने रिकार्ड तोड़ मतों से जीत दर्ज की। करीब 31000 वोटों से जीत दर्ज करके विधानसभा पहुंचे। मदन कौशिक को पर्यटन, आबकारी व कई अहम विभागों का मंत्रालय मिला। मंत्रीपद पर रहते हुए मदन कौशिक ने विकास की नई पटकथा लिखी। तत्कालीन मुख्यमंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक के साथ हरिद्वार में साल 2010 के कुंभपर्व को सकुशल संपन्न कराया। मदन कौशिक को तीसरी बार साल 2012 में ​फिर चुनाव लड़ने का अवसर मिला। हालांकि इस दौरान उनके लोकसभा में जाने की अटकले तेज हो गई। उनका लोकसभा का टिकट तक फाइनल हो गया। लेकिन ऐन वक्त पर डॉ रमेश पोखरियाल निशंक को लोकसभा का टिकट दिया गया और मदन कौशिक को फिर हरिद्वार से विधायक का चुनाव लड़ने का मौका मिला। पिछले दो चुनाव जीतकर हरिद्वार की सियासी जमीन पर अंगद के पैर की भांति मजबूत पकड़ बना चुके मदन कौशिक ने चुनावी प्रबंधन का ऐसा खाका तैयार किया जिसका तोड़ना विरोधियों के बस की बात नही रही। यही कारण रहा कि साल 2012 के चुनाव में मदन कौशिक करीब 9 हजार वोट से जीत दर्ज करके विधानसभा पहुंचे। इसी तरह साल 2017 में करीब 28000 वोट से चौथी बार विधानसभा पहुंचे। इन चार चुनावों में सबसे बड़ी बात ये रही कि​ मदन कौशिक का मत प्रतिशत हर चुनाव में बढ़ता ही चला गया। साल 2002 में 27 प्रतिशत, साल 2007 में 48 प्रतिशत, साल 2012 में 52 प्रतिशत तो साल 2017 में 67 प्रतिशत पर पहुंच गया। वर्तमान में मदन कौशिक मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की सरकार में शहरी विकास मंत्री और शासकीय प्रवक्ता की अहम जिम्मेदारी निभा रहे है। या यूं कहा जाए कि मुख्यमंत्री के बाद दूसरे सबसे अहम दायित्व का निर्वहन मदन कौ​शिक कर रहे है। जनता की समस्याओंं का निस्तारण कर रहे है। उत्तराखंड के विकास में अहम भूमिका अदा कर रहे है। मदन कौशिक की सबसे बड़ी खूबी ये है कि वह बहुत ही धीर गंभीर है। उनका अपने क्रोध पर पूरी तरह से नियंत्ररण है। वह कभी किसी विरोधी के लिए भी मुंह से कोई गलत शब्द का प्रयोग नही करते। वही दूसरी बड़ी खूबी ये है कि मदन कौशिक गरीब जनता के कार्यो को सबसे पहले प्राथमिकता देते है। उनके घर पर लगने वाले जनता दरबार में कोई भी साधारण व्यक्ति अपनी समस्या लेकर जाता है तो उसकी समस्याओं को सुनकर वह समाधान करते है। लेकिन इन दो दशकों के भीतर मदन कौशिक के हृदय में आस्था की भावना बढ़ी है। वह मंदिर पूजा और संतों की परिक्रमा करने लगे है। आज 11 जनवरी को एक बार फिर अपने जन्मदिन के अवसर पर उन्होंने मां शाकुंबरी देवी, मां मंशा देवी, मां गंगा की पूजा की ओर संतों का आशीर्वाद लिया। गरीबों को बस्त्र व तमाम उपयोगी बस्तुएं दान स्वरूप वितरित की। उनके जन्मदिन पर हरिद्वार में कई स्थानों पर रक्तदान शिविर लगाए गए। हरिद्वार में विभिन्न स्थानों पर मदन कौशिक को बधाई देने वाले पोस्टर जनता की ओर से लगाए गए है। जो इस बात की ओर इशारा करते है कि मदन कौशिक दो दशकों बाद भी भाजपा के सबसे मजबूत स्तंभ है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!