ग्लेशियर टूटने से मची अफरा तफरी, मुख्यमंत्री ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर, हरिद्वार में अलर्ट

अंतरराष्ट्रीय उत्तराखंड हरिद्वार


नवीन चौहान
चमोली जिले के रैणी गांव के ऊपर वाली गली से ग्लेशियर टूट गया है जिस कारण यहां पावर प्रोजेक्ट ऋषि गंगा को भारी नुकसान हुआ है. साथ ही धौलीगंगा ग्लेशियर की तबाही से तपोवन डैम को भारी नुकसान हुआ है। मौके पर एसडीआरएफ की दस टीमें मौके पर पहुंच गई है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत पूरी स्थिति का जायजा ले रहे हैं। उन्होंने हेल्पलाइन नंबर 1070 या 9557444486 जारी किए हैं। बचाव के लिए इन नंबरों पर संपर्क कर सकते हैं।


चमोली जिले के जोशीमठ में नंदादेवी ग्लेशियर के फटने से भारी तबाही मची हुई है। हरिद्वार जिलाधिकारी सी रविशंकर ने तमाम विंगों को अलर्ट करते हुए मैदान में उतार दिया है। उन्होंने बताया कि आईआरएस सिस्टम को तत्काल एलर्ट कर दिया गया है। समस्त संबंधित अधिकारी कॉन्फ्रेंस हाल कलेक्ट्रेट में तत्काल उपस्थित होने को निर्देश दिए हैं। समस्त एसडीएम अपने क्षेत्र में रह कर सारी व्यवस्था देखेंगे। सभी को एलर्ट रखें।
गंगा नदी के तटवर्ती सभी गांव को अलर्ट किया जा रहा है तथा सभी ग्राम वासियों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचने हेतु माइक आदि से सूचित किया जा रहा है। तहसील और पुलिस की टीम मौके पर सूचना देने का कार्य कर रही है। ग्राम प्रधानों को भी सूचित किया गया है। साथ ही मंदिरों मस्जिदों से भी सूचना पहुंचाई जा रही है। उपनिदेशक खनन को सूचित किया गया है कि वह तत्काल सभी खनन पट्टा क्रेशरों भंडारों में कार्यरत श्रमिकों व अन्य कर्मचारियों को अपने स्तर से सूचित करेंगे। कृपया जनपद स्तरीय सभी आधिकारियो से अनुरोध है तत्काल अपने फील्ड के अधिकारियों को सक्रिय कर दें तथा मौके पर भेजना सुनिश्चित करें।
एसएसपी सैंथिल अबुदई कृष्णराज एस ने भी आम जनमानस को अलर्ट किया है। उनेंने सूचित करते हुए अवगत कराया है कि जनपद चमोली स्थित तपोवन रैणी क्षेत्र में ग्लेशियर आने के कारण ऋषिगंगा पावर प्रोजेक्ट को काफी क्षति पहुंची है, जिससे नदी का जल स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है, ज़िस कारण नदी किनारे रह रहे लोगों से अपील है जल्दी से जल्दी सुरक्षा की दृष्टि से स्वयं व परिवार के साथ सुरक्षित स्थानों पर चले जाएं व साथ ही आसपास के लोगों को भी सचेत करें।
सीएम ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर नंबर
1070 या 9557444486 पर संपर्क करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *