गंगाजल से 30 नवम्बर को पशुपतिनाथ मंदिर में होगा जलाभिषेक, पवित्र कलश रवाना

हरिद्वार


नवीन चौहान
पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के चरण पादुका स्थल से रवाना हुआ पवित्र कलश 27 नवम्बर को लखनऊ से गोरक्षनाथ मठ गोरखपुर के लिए पहुंचेगा। पवित्र कलश 28 नवंबर को भैरवा होते हुए नेपाल की सीमा में प्रवेश कर 30 नवम्बर को पशुपतिनाथ मंदिर में जलाभिषेक किया जाएगा। गंगोत्री धाम के रावल श्री शिवप्रकाश महाराज ने कहा कि मां गंगा की यह पवित्र यात्रा का समापन नेपाल के पशुपतिनाथ मंदिर में अभिषेक के साथ सम्पन्न होगा।
हरिद्वार से अपर कुंभ मेला अधिकारी सरदार हरबीर सिंह, मां मनसा देवी मंदिर ट्रस्ट के परमाध्यक्ष श्रीमहंत रविंद्र पुरी, एसएमजेएन पीजी कालेज हरिद्वार के प्राचार्य डॉ सुनील कुमार बत्रा, भाजपा के महामंत्री विकास तिवारी, अनिल शर्मा, बिन्दू गिरी, महंत डोंगर गिरी, महंत रामरत्न गिरी, महंत नरेश गिरी, दिगम्बर राकेश गिरी, महंत दिनेश गिरी, महंत राधे गिरी, दिगम्बर अंबिका पुरी, दिगम्बर राजपुरी, श्रीमहंत केशव पुरी, महंत रविपुरी, पदम् नारायण गिरि, वैभव बत्रा, उज्ज्वल बत्रा, अमृता शर्मा, विमल उपाध्याय, चेयरमैन गुजरात आर्थिक निगम के हेमंत टुटेजा, प्रतीक सूरी, संदीप अग्रवाल, सुंदर राठौर, अर्जुन, मनोज मंत्री, आदि संत-महंत आदि ने जयकारे के बीच पवित्र कलश को विदा किया। अपर कुम्भ मेला अधिकारी सरदार हरबीर सिंह ने कहा कि उत्तराखंड से मां गंगोत्री से पशुपतिनाथ मंदिर में जलाभिषेक हेतु पवित्र कलश यात्रा हमारे देश एवं नैपाल के मध्य संबंधाों में प्रगाढ़ता को प्रर्दशित करता है। हमारे एवं नेपाल के मध्य रोटी एवं बेटी का सम्बन्ध प्राचीन काल से चला आ रहा है। तथा यह परम्परा हमारी सांस्कृतिक विरासत को ओर अधिक मजबूत करेंगी।
मां मनसा देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष श्रीमहंत रविन्द्र पुरी ने देते हुए बताया कि गंगोत्री धाम के कपाट बंद होने के बाद मां गंगा की प्रतिमा व छड़ी मुखीमठ में स्थापित होने के बाद पवित्र गंगा जी का कलश को नेपाल स्थित पशुपति नाथ मंदिर नेपाल में अभिषेक हेतु ले जाए जाने हेतु कल पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के चरण पादुका स्थल पर कल पहुंचा था तथा आज पवित्र कलश को परम्परा गत तरीके से विदाई दी गई। पवित्र गंगा कलश लेकर रावल शिवप्रकाश जी महाराज इसके पश्चात इन्दू इनक्लेव स्थित डॉ सुनील कुमार बत्रा के आवास पर पहुंचे वहां श्रृद्धालुओ ने पवित्र कलश पर पुष्प अर्पित किए। इसके बाद पवित्र कलश मुरादाबाद के लिए रवाना हो गया।
हरिद्वार नागरिक मंच के अध्यक्ष डॉ सुनील कुमार बत्रा ने कहा कि यह हरिद्वार का सौभाग्य है कि पवित्र गंगा कलश के दर्शन करने का सभी हरिद्वार वासियों को सौभाग्य मिल रहा है। मां गंगा जीवनदायिनी हैं तथा भारत की जीवनरेखा हैं। मां गंगा को स्वच्छ रखने का संकल्प हम सभी को लेना होगा तभी मां गंगा के दर्शन और उनकी पूजा करने की सार्थकता होगी। डॉ बत्रा ने बताया कि इस पवित्र कलश गंगा जल पूरे साल भर भगवान पशुपतिनाथ के अभिषेक में प्रयुक्त किया जाएगा। इस मौके पर दिनेश राणा, अक्षत राणा भी शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *